harsil

केदारताल यात्रा – दिल्ली से गंगोत्री

केदारताल यात्रा – दिल्ली से गंगोत्री

By

जिस नंबर पर आप संपर्क करना कहते हैं वो अभी स्विच ऑफ है या नेटवर्क छेत्र से बहार है… ऋषिकेश में शुबह के 4:30 बज रहे थे और मेरी इस यात्रा के साथी प्रशांत ने मुझे यहीं मिलना था लेकिन उसका फ़ोन स्विच ऑफ आ रहा था। मै दिल्ली से 16 जून की रात को चला था और प्रशांत देहरादून से आकर रात बिताने के लिए ऋषिकेश में किसी होटल में ठहरा हुआ था और सुबह हम दोनों को मिलकर उत्तरकाशी की ओर रवाना होना था। प्रशांत ने मुझे रात को ही बता दिया था की वो किस होटल में ठहरा है लेकिन मुझे होटल का नाम याद नहीं था, बस इतना याद था की होटल त्रिवेणी घाट के पास है। अब समझ में नहीं आ रहा था की क्या किया जाए। सुबह सुबह सड़क पर एकदम सन्नाटा था और मै इधर उधर टहल कर टाइम पास करने लगा की तक़रीबन बीस मिनट बाद मेरे फ़ोन की घंटी बजी, देखा की प्रशांत का ही फ़ोन है। मै प्रशांत के बताये हुए रस्ते पे चल पड़ा और कुछ ही मिनटों में उसके होटल के कमरे में पहुँच गया।

Read More

A Road trip to Gangotri Dham from Harsil

By

Present temple of Gangotri was built in 18th century, by Gorkha General Amar Singh Thapa, is located near the spot where the goddess Ganga is said to have first descended on earth from heaven, as an answer to the prayers of King Bhagriath! Gongotri is the highest and most important temple of Goddess Ganga. The origin of Bhagirathi river, Gaumukh glacier is 18 kms from Gangotri and there person can reach only by foot. One can go by horse riding but up to certain point and from there by foot they have to go. Gangotri remains opened from May and get closed on the day of Diwali festival. During winter, Gangotri temple remains closed due to heavy snowfall.

Read More