राजस्थान यात्रा – बीकानेर से जयपुर और जयपुर –

By

पहले हिस्से में सूरज पोल से जाने पर मिलता है जलेब चौक जहां सैनिकों के रहने के लिए बैरकें बनी हैं| जीत के जश्न को देखने के राजसी महिलाओं के लिए झरोखे भी बने हैं| इस हिस्से को सवाई जय सिंह के कार्यकाल में बनवाया गया था| जलेब चौक के बाद इस हिस्से का प्रांगण है जिसके एक किनारे पर शिला देवी का मंदिर है| मंदिर का दरवाजा काफी प्रभावशाली है और इस पर तरह तरह की बनावटें हैं| इसके पीछे कहानी यह है कि राजा को सपने में देवी ने दर्शन दिए थे और उसके उनहोंने बंगाल के राजा को युद्ध में हराया था| देवी की मूर्ति को समुद्र से एक पत्थर लाकर उस पर नक्काशी करके यहाँ स्थापित किया गया था, इसीलिए नाम पड़ा शिला देवी| नवरात्री के दिनों में यहाँ बलि की प्रथा भी है| हम मंदिर के अंदर नहीं जा पाए क्योंकि पट बंद थे|

Read More